Dpboss Net सभी रिजल्ट्स – 29-06-2022

dpboss net, dpboss dpboss, dpboss net matka, dpboss net com, dpboss satta net, satamatka dpboss net, satta dpboss net 

dpboss net

Dpboss.Net

यदि आप सट्टा मटका (sattamatka)  खेलते हैं तो आपने कभी ना कभी dpboss net  के बारे में सुना ही होगा परंतु क्या आप जानते हैं कि dpboss net  उन पुरानी वेबसाइट में से एक है जिन पर पहली बार sattamatka games  खेले गए थे.

Follow us on Google News For all Latest News and Finance Updates

हालांकि यदि हम अनुमान लगाया तो dpboss net  पर रोजाना 50 लाख से भी अधिक लोग आते हैं और satta matka results  को देखते हैं.

Advertisements

हालांकि dpboss net  का सबसे प्रसिद्ध matka है  कल्याण मटका (kalyan matka) और आपको बता दे की मटका खेलों में कल्याण मटका (kalyan matka)  सबसे  पुराने मटको में से एक है, आपको बता दें कि हर दिन कल्याण मटके पर 15 लाख से अधिक लोग रिजल्ट देखने के लिए dpboss net  की वेबसाइट पर आते है.

Dpboss net 

dpboss dpboss एक रिजल्ट दिखाने वाली वेबसाइट है जहां पर 300  से भी अधिक मटको का रिजल्ट दिखाया जाता है,  आपको बता दें कि  यदि हम बात करें कल्याण मटके (kalyan matka) की तो dpboss net  पर  कल्याण मटके का रिजल्ट सबसे पहले अपडेट किया जाता है.

Advertisements

कल्याण मटके के अलावा भी  dpboss net  पर अलग-अलग मटको के रिजल्ट दिखाए जाते हैं, वर्तमान समय की बात करें तो आज लाखों की तादाद में लोग  सट्टा मटका  गेम्स को खेल रहे हैं और रातो रात अमीर बनने की कोशिश में है, इस लेख में हम आपको dpboss net  से संबंधित संपूर्ण जानकारी देंगे.

DPBOSS सभी रिजल्ट्स ( 29-06-2022 )

Advertisements

DPBOSS  इतिहास

क्या आप जानते हैं  सट्टा मटका खेलों की शुरुआत भारत में 1962 में रतन खत्री ने की थी, कुछ सालों बाद कल्याणजी भगत और रतन खत्री दोनों ने मिलकर सट्टा मटका को आगे बढ़ाया,  आपको बता दें कि, dpboss  वेबसाइट की शुरुआत 2012 में हुई थी.

और 2012 के पहले सट्टा मटका के  सभी खेल को ऑफलाइन के माध्यम से खेला जाता था,  जहां पर एक मटके में अलग-अलग अंक की पर्चियां डाली जाती थी, फिरअंको पर पैसा लगाया जाता था, उसके बाद अनियमित तौर से पर्चियां निकाली जाती थी और  जिनके अंक फसते थे उन्हें विजेता घोषित कर दिया जाता था.

Advertisements

समय के साथ साथ आधुनिकता आई है और सट्टा मटका खेल भी ऑनलाइन खिलाने जाने लगा,  और 2012 में dpboss  इंटरनेट पर आया और उसके बाद से ही सट्टा मटका रिजल्ट देने वाला सबसे  बड़ा वेबसाइट बन गया.

Dpboss  इतना ज्यादा प्रसिद्ध है कि यदि आप सट्टा मार्केट से संबंधित गूगल पर कुछ भी ढूंढते हैं तो आपको DPBOSS  की वेबसाइट जरूर मिलेगी.

Free guessing: kalyan open fix pana

सट्टा मटका खेलों में लोग opening closing अंको पर पैसा लगाकर अंको की भविष्यवाणी कर पैसा कमाते हैं,  हालांकि ऐसा करने के लिए आपको गणितीय बुद्धिमानी की आवश्यकता है परंतु बहुत से लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें बहुत अच्छे से अंक निकालने नहीं आता इसीलिए वह दूसरे लोगों को पैसा देकर अंक पाने की कोशिश करते हैं.

Advertisements

यदि आप भी उनमें से एक हैं जिन्हें अंको का ताला मेल समझ नहीं आता या आपको अंक दूसरों से खरीदने पड़ते हैं तो हम आपको बता दें कि हमारी वेबसाइट पर आपको मटका खेल से संबंधित सारे अंक बिल्कुल मुफ्त में मिल जाएंगे.

यदि आप मुफ्त में ऐसे आंख पाना चाहते हैं जिनके जीतने की संभावना ज्यादा होती है तो नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कीजिए

सट्टा मटका इतिहास

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताए कि सट्टा मटका खेल भारत में 1962 में शुरू किया और  इसे शुरू करने वाले व्यक्ति का नाम था रतन खत्री,  दरअसल बात ऐसी है कि रतन खत्री मुंबई पैसा कमाने के लिए आए थे यहां पर आने के बाद जब उन्होंने मिल में काम कर रहे है  वर्कर्स को,  कपास के ओपन नाम पर पैसा लगाकर मुनाफा कमाते हुए देखा तो उन्हें भी पैसा कमाने का लालच आया,  और वह भी कपास के दाम पर पैसा लगाकर मुनाफा कमाने लगे.

सर बात ऐसी है कि  उस समय मुंबई  मैं लोग पैसा कमाने आते थे और उस मुंबई में खूब सारे मिल हुआ करते थे उन्हीं में से एक में था जिसका नाम था न्यूयॉर्क एक्सचेंज में,  जो मिल के वर्कर सोते थे उन्हें इतना पैसा नहीं मिल पाता था कि वह अच्छी जिंदगी जी सके किसी ने कहा और पैसा कमाने के लिए न्यूयॉर्क  एक्सचेंज मिल के कपास के दाम पर पैसा लगाकर  थोड़ा और पैसा कमाने की कोशिश करते थे,  और रतन खत्री ने भी उन्हें देखकर ऐसा करना चालू कर दिया.

परंतु कुछ समय बाद न्यूयॉर्क एक्सचेंज मिल बंद हो गया,  और क्योंकि  न्यूयॉर्क एक्सचेंज मिल काफी बड़ा था इसीलिए बहुत सारे लोग रोजाना वहां पैसे लगाते थे,  और फिर मिलकर बंद हो जाने के बाद  लोग दूसरा सट्टा खोजने लगे जहां पर वह पैसे लगाकर मुनाफा कमाया.

Advertisements

तब रतन खत्री ने खुद का सट्टा चालू करने का फैसला लिया,  और ऐसे हुआ  सट्टा मटका की शुरुआत.

शुरुआती दौर में मटका खेल

आपको बता दें कि शुरुआती दौर में रतन खत्री का सट्टा मटका ज्यादा नहीं चलता था क्योंकि बाजार में ऐसे बहुत सारे दूसरे सट्टे थे जहां से लोग ज्यादा मुनाफा कमा सकते थे,  परंतु फिर भी रतन खत्री ने हार नहीं मानी और सट्टा चलाते रहे.

कुछ समय पश्चात रतन खत्री को एक दोस्त मिले जिनका नाम था कल्याणजी भगत फिर क्या था रतन खत्री और कल्याणजी भगत दोनों ने मिलकर सट्टा खेल को बहुत आगे बढ़ाया और आज के दिन सट्टा मटका के अंतर्गत सबसे अधिक खेला जाने वाला बाजार है कल्याण मटका जोगी कल्याणजी भगत के नाम पर रखा गया है.

यदि आपको डीपी बॉस या कल्याण मटका से संबंधित हो और भी जानकारी चाहिए तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न डाल सकते हैं,  हम आप तक जल्द से जल्द पहुंचने की कोशिश करेंगे. 

Sharing Is Caring:

Related Posts

Leave a Comment