Sattamatkà DPBOSS Result: सट्टा मटका कल्याण रिजल्ट

sattamatkà , sattamatkà result , sattamatkà 143 , sattamatkà mobi , sattamatkà kalyan , sattamatkà result today , sattamatkà result kalyan , sattamatkà result net , sattamatkà chart , sattamatkà result net result, satta matka

Sattamatkà DPBOSS Result

SATTA MATKA RESULT : DPBOSS

Follow us on Google News For all Latest News and Finance Updates

Sattamatkà लॉटरी खेल है  जिसके अंदर कई सारे अलग-अलग matka games है,  हालांकि भारत में satta matka  की शुरुआत 1962 में  रतन खत्री द्वारा कही गई थी,  परंतु उनके साथ कल्याणजी भगत का भी इस खेल में बहुत बड़ा हाथ था,  इसीलिए आज sattamatkà  के अंतर्गत आने वाला  सबसे बड़ा matka game है kalyan matka की शुरुआत कल्याणजी भगत ने की थी. 

जैसा कि हमने आपको बताया कि sattamatkà  के अंतर्गत कई सारे matka games  खिलाए जाते हैं,  परंतु जब sattamatkà  की शुरुआत की गई थी उस समय satta matka के सिर्फ kalyan matka हीं खिलाया जाता था, परंतु आज के समय satta matka के अंतर्गत 300  से भी अधिक matka games  खिलाए जाते हैं.

आपको बता दें कि  लॉटरी खेल बहुत सारे राज्यों में सरकार द्वारा  प्रतिबंधित कर दिया गया है, कुछ राज्य ऐसे हैं जहां पर आज भी सरकार ने लॉटरी खेल को प्रतिबंधित नहीं किया है, और उन राज्यों का नाम है:

Advertisements
  • Maharashtra
  • West Bengal
  • Punjab
  • Kerala
  • Sikkim
  • Madhya Pradesh
  • Nagaland
  • Goa
  • Arunachal Pradesh
  • Assam
  • Meghalaya
  • Manipur

पर दर्शाए गए राज्यों में  लॉटरी खेल को खेलना legal  है,  और लॉटरी खेलो से कमाए हुए मुनाफे का एक बहुत बड़ा हिस्सा लोगों को टैक्स के रूप में सरकार को देना पड़ता है. 

sattamatkà result 

यहां हम आपको satta matka खेल के सभी प्रसिद्ध matka game results दर्शा रहे हैं, आपको जिस matka game result को देखना है उस पर क्लिक करके आप उसे देख सकते हैं:

satta matka की शुरुआत कब हुई?

Sattamatkà  खेल की शुरुआत 1962 में हुई थी और इसे शुरू करने वाले का नाम था रतन खत्री,  दरअसल रतन खत्री आम व्यक्ति थे जो मुंबई में काम करके पैसा कमाने के लिए आए थे क्योंकि उस समय मुंबई सपनों का शहर हुआ करता था,  रतन खत्री ने मुंबई में मिल में काम करते हुए यह देखा कि मिल के वर्कर न्यूयॉर्क एक्सचेंज में कपास के ओपन और क्लोज दाम पर पैसा लगाकर मुनाफा कमाते हैं.

Advertisements

सभी वर्कर्स को देख वह भी कपास के दाम पर पैसा लगाने लगे और मुनाफा कमाने लगे, परंतु कुछ समय बाद जब न्यूयॉर्क एक्सचेंज मिल बंद हो गया तब लोगों के पास सट्टा लगाने का कोई और दूसरा बड़ा जरिया ना रहा  तब रतन खत्री ने सोचा कि क्यों ना वह अपना एक सट्टा चालू करें और फिर 1962 में रतन खत्री ने satta matka का इजाद किया.

शुरुआती दौर में satta matka

शुरुआती दौर में satta matka ज्यादा प्रसिद्ध नहीं था और ज्यादा लोग satta matka को नहीं खेला करते थे क्योंकि उस समय बाजार में satta matka से भी अच्छे विकल्प उपलब्ध थे जो कि कम समय में satta matka से भी ज्यादा मुनाफा दिया करते थे,  लेकिन समय के साथ-साथ वह सभी सट्टे बंद होते गए और धीरे धीरे  लोग Sattamatkà  को भी खेलने लगे.

जब लोगों ने Sattamatkà  को खेलना शुरू किया वही समय था जब कल्याणजी भगत रतन खत्री से मिले और दोनों ने साथ मिलकर satta game को आगे बढ़ाया, उस समय Sattamatkà  के अंतर्गत एक और matka game  चालू कराया गया जिसका नाम था कल्याण मटका जोकि कल्याणजी भगत के नाम पर आधारित था, और आज के समय में कल्याण मटका Sattamatkà  के अंतर्गत खिलाए जाने वाला सबसे अधिक प्रसिद्ध खेल है.

Advertisements

satta matka खेलने के तरीके

यदि हम बात करें 1962 की तो तब इंटरनेट ना होने के कारण satta matka खेलों को ऑफलाइन के माध्यम से खेला जाता था जहां पर एक मटका हुआ करता था जिसमें  बहुत सारी  पर्चियां होती थी जिनमें अलग-अलग अंक लिखे होते थे,  और फिर लोगों को  अंको पर पैसा लगाना होता था और जिसका निकलता था उसे विजेता घोषित कर इनाम दिया जाता था.

परंतु समय के साथ-साथ जैसे आधुनिकता आती गई और इंटरनेट आया, रोजमर्रा की ज्यादातर चीजें ऑनलाइन के माध्यम से होने लगी और यही समय था जब Sattamatkà  को भी ऑनलाइन के माध्यम से खेला जाने लगा,  इंटरनेट की वजह से satta matka और भी ज्यादा लोगों तक पहुंचने लगा और आज Sattamatkà  खेलों को दुनियाभर में लाखों की तादाद में लोग हर रोज खेलते हैं.

आपको बता दें कि जब Sattamatkà की  शुरू हुआ था उस समय इसके अंतर्गत ज्यादा खेल नहीं हुआ करते थे परंतु आज satta matka के अंतर्गत 300  से भी अधिक matka game खिलाए जाते हैं.

Advertisements

Sattamatkà कि कुछ Secret बातें

आज हम आपको Sattamatkà  खेलों की कुछ secret बातों के बारे में बताएंगे जो शायद आपको कोई और वेबसाइट  नहीं बताना चाहिए,  और खासकर matka games के आयोजक यह बात आपको कभी नहीं बताएंगे,  यदि आपको ऐसी सच्चाई अच्छी लगी तो दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले.

आपको बता देंगे satta matka के अंत तक खिलाए जाने वाले सभी matka games में आपको पुराने अंकों के आधार पर भविष्य में खुलने वाले अंकों की गेसिंग करनी पड़ती है और यदि आप सही नंबर गैस करते हैं तो आपको इनाम के तौर पर लगाए हुए पैसे का कुछ गुना पैसा मिलता है.

हम आपको बता दें कि पुराने अंकों के आधार पर ऐसे बहुत सारे नए अंक आते हैं जिनके विजेता अंगा परिवर्तन होने की संभावना बहुत अधिक होती है परंतु इनमें से कुछ ही ऐसे होते हैं जो विजेता अंक बनते हैं.

क्योंकि satta matka खेलों को लाखों की तादाद में हर रोज खेला जाता है इसलिए अंको पर खूब सारे लोग हर दिन पैसा लगाते हैं और जिस अंक पर कम से कम लोग पैसा लगाते हैं वही अंक हमेशा जीतता है.

आप सोच रहे हैं कि ऐसा क्यों होता है तो हम आपको बता दें कि,  जब लाखों की तादाद में लोग हर रोज पैसा लगाते हैं तब सट्टा मटका खेल आयोजकों के पास खूब सारा पैसा आता है,  और  खेल आयोजन ऐसे अंक को जानबूझकर जताते हैं जिस पर कम लोगों ने पैसा लगाया हो ताकि उन्हें मुनाफे का हिस्सा कम से कम लोगों को देना पड़े.

Advertisements

ऐसा करने से खेल आयोजकों के पास भारी मुनाफा बच जाता है.

यह भी पढ़ें:

Sharing Is Caring:

Related Posts

Leave a Comment