Weight loss करना है तो पहले समझे कैलोरी का गणित, जानें

आपको अपना वजन घटाना हो, बढ़ाना हो या फिर मेनटेन करना हो। इन सभी के लिए आपको ली गई और जलाई गई कैलोरीज का हिसाब रखना होगा।

अगर आप कैलोरीज के गणित को समझ जाते हैं तो वजन घटाना हो, बढ़ाना हो या फिर मनेटेन करना हो। यह सभी आप बहुत आसानी से कर पाएंगे।

क्या है कैलोरी और इसका गणित

हम जो कुछ भी खाते या पीते है उसके अंदर कुछ ऊर्जा होती है। इस ऊर्जा को मापने के लिए ही कैलोरी का उपयोग किया जाता है।

यानी आप जो कुछ भी खाते हैं उसके अंदर कुछ कैलोरीज होती है। वजन कम करते समय यह जरूरी होता है कि आप सही मात्रा में कैलोरीज लें। यह कैलोरीज उम्र, शरीर के हिसाब से अलग अलग होती हैं।

अगर आप एक बच्चे को देखेंगे तो उन्हे कम कैलोरीज की आवश्यकता होती है। वहीं एक व्यस्क व्यक्ति को थोड़ी अधिक कैलोरीज की जरूरत होती है। आइए उदाहरण से समझते हैं।

मान लीजिए की आप एक पुरुष हैं, एंव आपकी उम्र 25 साल है और लंबाई 5 फीट 8 इंच है। अब आपका वजन है 90 किलो ग्राम।

ऐसे में अगर आपको वजन घटाना है तो आपके पास दो विकल्प होंगे। पहला विकल्प कि आप जितनी भी मात्रा में कैलोरीज ले रहे हैं उसे सीधा सीधा कम कर दें। यानी आप अपनी खुराक को कम कर दें।

दूसरा विकल्प है कि आप कितनी कैलोरीज ले रहे हैं यह देखें।

आप जरूर कुछ गलती कर रहे है, जिसके वजह से मन मुताबित फ़ायदा नहीं हो रहा है.  विसेस जानकारी के लिए बटन क्लिक करें 

– Life span solution – Saving with protection – Children’s future solution – Pension settlement scheme – ULIP – Rural – NRI

Adity Birla Sun Life Term Insurance Plan Features:

For More Information Click Below